आयुर्वेद ने बताए हैं पीरियड्स के यह उपाय,आयुर्वेद के यह उपाय, एक बार जरुर अपनाएँ

पीरियड्स
पीरियड्स

भाई यह तो नेचर का नियम है, इसमे डर किस बात की! अगर पुरुषों को ऐसे किसी हालात से गुजरना होता तो राम दुहाई. इस समय की तकलीफों को केवल महिलाएँ ही समझ सकती हैं. तो चलिए आज हम आपको यह बताते हैं कि आयुर्वेद के अनुसार पीरियड्स के वाली परेशानियो को कैसे दूर किया जा सकता है.

यह बात बिल्कुल सच है कि पीरियड्स के समय में महिलाओं को दिन में भी चार चांद नजर आने लगते हैं. इस स्थिती में उसक खाना  पीना सब मुश्किल हो जाता है, और शर्म की तो बात ही क्या. किसी भी तरह से इन दिनों को काटना पड़ता है, हर काम से  चिड़चिड़ाहट होती है, मन हमेशा इसी तरफ लगा रहता है की कहीं कुछ हो न जाए.

आयुर्वेद ने काफी समय पहले ही इस समस्या के लिए इलाज सुझा दिया है. तो शुरु करते हैं कि क्या और कैसे? पीरियड्स के दिनों की  तकलीफों से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ ऐस कर सकती हैं:

हल्दी का इस्तेमाल करें 

अगर अपको पीरियड्स के दिनों में तकलीफों का सामना करना पड रहा है तो आप इन दिनों हर सुबह हल्दी क सेवन जरुर करें. इसका  कारण यह है कि हल्दी में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो आपको कै तरह के दर्द से राहत तो दिलाते ही हैं और साथ ही

और भी कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं.

प्रेगनेंसी टेस्ट के गलत परिणाम से बचने के लिए इन बातों का जरूर खयाल रखें

अदरक 

हल्दी की ही तरह इसमे भी बहुत सारे गुण पाए जाते हैं. हल्दी की ही तरह अदरक में भी एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. दरासल, यह एंटी- ऑक्सीडेंट दर्द से राहत देने वाले होते हैं इसलिए इस समय के दौरान कुछ ऐसे foods लेना जरुरी हो जाता है जिसमे एंटी- ऑक्सीडेंट लेना जरुरी हहो जाता है. तो आप इस समय अदरक वाली चाय जरुर लें.

तील का सेवन करें 

कई बार ऐसा होता है कि ठंड के करण रक्त का भाव ठीक से नही हो पाता है. अगर रक्त स्त्राव के दिनों में रक्त सही से नही निकल पाया तो दर्द होना स्वभाविक है. तील का सेवन करने पर यह शरीर से रक्त के बहाव को नियंत्रित करता है.  इसलिए इन दिनों तील का सेवन करना सेहत के लिए फयदेमंद है.

लाल गाजर खाएँ 

दरअसल, इन दिनों लाल गाजर खाना सेहत के लिए काफी फयदेमंद होता है. इसका कारण यह  है कि लाल गाजर में कैरोटीन नामक तत्व पाया जाता है जो रक्त के स्त्राव को बेहतर ढंग से काम करने में मदद करता है.

पिंपल्स के लिए फायदेमंद है प्रकृतिक तरीका, कोई दवा नहीं : Pimples Treatment

मेथी के दाने 

अगर आप पीरियड्स के दिनों से गुजर रही हैं तो आप मेथी के दाने जरुर खाएन. इससे आपके दर्द की समस्या क समधान जरुर मिलेगा.

Dictionary Nine : Search Your Meaning In Nine Languages on your Android Mobile.

Easy to search all meanings in Hindi, Bengali, Punjabi, Gujarati, Marathi and other Lamnguages.

Click Here To Download This Android Application 

अनारस 

इसे अँगरेजी में पाइनेपल कहते हैं. यह एक बहुत ही अक्चा फल है जिसकी मदद से रक्त के बहाव को नियंत्रित किया जा सकता है. अगर आप चक्र धर्म के दौरान इस फल का सेवन करती हैं तो शरीर में रक्त के बहाव को सही समय पर सही ढंग से स्त्राव करने में मदद मिलती है. इस दौरान यह फल आपको बहुत राहत प्रदान करेगा.

अगर आपको यह पोस्ट कारगर लगे तो आप निश्चय ही इसे अधिक से अधिक जान-पहचान वालो तक पहुँचाएँ.

21 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.